Notification

×

ad

ad

40 करोड से अधिक लोग अत्यधिक गर्मी, तथा सूखे का सामना कर रहे है

मंगलवार, 13 सितंबर 2022 | सितंबर 13, 2022 WIB Last Updated 2022-09-13T16:58:43Z
    Share

एक नए जलवायु अध्ययन में पता लगा है कि पश्चिम एशियाई क्षेत्र वैश्विक औसत से लगभग दोगुना गर्म हो रहा है। इसका लोगों और अर्थव्यवस्थाओं पर विनाशकारी प्रभाव पड़ने की आशंका है। पश्चिम एशियाई क्षेत्र वैश्विक औसत से लगभग दोगुना गर्म हो रहा है


International News


इस साल के अंत में मिस्र में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन पर 27वें सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा। इस शिखर सम्मेलन से पहले जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि क्षेत्र के 40 करोड से अधिक लोग अत्यधिक गर्मी, लंबे समय तक सूखे और समुद्र के स्तर में वृद्धि का सामना कर रहे हैं।


अध्ययन से पता चला है कि तेल से समृद्ध क्षेत्र में पि‍छले कई वर्षों में यूरोपीय संघ से भी अधिक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन का स्रोत बन रहा है।


अध्ययन में पश्चिम में ग्रीस और मिस्र से लेकर लेबनान, सीरिया और इराक तक और खाड़ी के राज्यों बहरीन, कुवैत और संयुक्त अरब अमीरात के साथ-साथ पूर्व में ईरान तक फैले क्षेत्र को शामिल किया गया है।

लगभग 200 देशों के प्रतिनिधि इस साल नवंबर में मिस्र के लाल सागर रिसॉर्ट शहर शर्म अल-शेख में मिलेंगे ताकि 2015 के पेरिस समझौते को लागू कराया जा सके ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जुड़े श्रीराम दूत नेटवर्क से

ad

लोकप्रिय पोस्ट