Notification

×

international bullion exchange : क्या है बुलियन एक्सचेंज ? भारत मे गिफ्ट सिटी में हुआ उद्घाटन

शनिवार, 30 जुलाई 2022 | जुलाई 30, 2022 WIB Last Updated 2022-07-30T03:34:30Z
    Share

international bullion exchange : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधीनगर के गिफ्ट सिटी में भारत के पहले अंतरराष्‍ट्रीय सर्राफा बाजार का उदघाटन किया ।


international bullion exchange



प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने गुजरात के गांधीनगर में भारत के पहले अंतरराष्‍ट्रीय सर्राफा बाजार गुजरात अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय प्रौद्योगिकी सिटी यानी गिफ्ट सिटी का शुभारंभ किया। श्री मोदी नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज, अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय सेवा केन्‍द्र और सिंगापुर एक्‍सचेंज कनेक्‍ट का शुभारम्‍भ भी किया और गिफ्ट सिटी में अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय केन्‍द्र प्राधिकरण मुख्‍यालय की आधारशिला रखी।



प्रधानमंत्री ने कहा कि गिफ्ट सिटी ने भारत और विश्व के लिए एकीकृत फिनटेक सेवाओं का केंद्र स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि गिफ्ट सिटी युवाओं को केवल फिनटेक क्षेत्र में ही नहीं, बल्कि उड्डयन, अंतरिक्ष और नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में वैश्विक अवसर उपलब्ध कराएगा। श्री मोदी ने कहा कि अंतरराष्‍ट्रीय सर्राफा बाजार के शुरू होने के साथ ही भारत न केवल सोने की कीमत को प्रभावित करेगा बल्कि सोने की कीमत निर्धारित करने में भी भूमिका निभाएगा।



श्री मोदी ने कहा कि अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय सेवा केन्‍द्र प्राधिकरण नवाचार को बढ़ावा देगा और विकास के अवसरों का केंद्र बनेगा।



प्रधानमंत्री ने कहा कि वित्त और तकनीक अब आपस में जुड़ गए हैं और भारत को तकनीक, विज्ञान और सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में अग्रणी और अनुभवी है। उन्होंने कहा कि भारत अब अमरीका, ब्रिटेन और सिंगापुर जैसे देशों में शामिल हो गया है, जहां वैश्विक वित्त को दिशा दी जा रही है।



वित्तीय शिक्षा पर जोर देते हुए श्री मोदी ने कहा कि अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय सेवा केन्‍द्र प्राधिकरण जैसी वित्तीय संस्थाओं को युवाओं को वित्तीय क्षेत्र में शिक्षित करने के लिए खाका तैयार करना चाहिए। फिनटेक की प्रगति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जब 2008 में वैश्विक मंदी के कारण भारत में अर्थव्यवस्था चरमरा गई थी तब गुजरात ने फिनटेक के क्षेत्र में नए कदम बढ़ाए थे, जो लगातार आगे बढ़ रहा है।



प्रधानमंत्री ने बताया कि पिछले आठ वर्षों में देश में म्युचुअल फंड में निवेश ढाई सौ गुना बढ़ा है।



गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल, गृह मंत्री अमित शाह और वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारामन सहित कई गणमान्य व्यक्ति समारोह में शामिल हुए।



इस अवसर पर, कई नई पहलों की भी घोषणा की गई, जिनमें तीन शीर्ष वैश्विक बैंकों डूशे बैंक, जेपी मार्गन चेस बैंक, एमयूएफजी बैंक की भारत में सेवाएं शुरू होना शामिल है। गिफ्ट सिटी में न्यू डेवलपमेंट बैंक का भारतीय क्षेत्रीय कार्यालय भी स्थापित किया जाएगा।



प्रधानमंत्री की मौजूदगी में अंतरराष्‍ट्रीय वित्‍तीय सेवा केन्‍द्र प्राधिकरण ने सिंगापुर, लग्जम्बर्ग, कतर और स्वीडन के नियामक प्राधिकरण के साथ समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जुड़े श्रीराम दूत नेटवर्क से

लोकप्रिय पोस्ट