Notification

×

ad

ad

Seoni News In Hindi | आज के सिवनी समाचार | सिवनी न्यूज | सिवनी की ताज़ा खबरे हिन्दी में

सोमवार, 13 सितंबर 2021 | सितंबर 13, 2021 WIB Last Updated 2021-09-13T13:58:50Z
    Share

 मृत मादा तेंदुआ के शरीर के समस्त अवयव सुरक्षित अवस्था मे मिले


मुख्य वन संरक्षक एवं क्षेत्र संचालक पेंच टाईगर सिवनी द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि विगत 12 सितंबर 21 को पेंच टाइगर रिजर्व  सिवनी अंतर्गत कर्माझिरी परिक्षेत्र में बीट कुम्भादेव के कक्ष क्रमांक 590 में गस्ती दल को गश्ती के दौरान शाम लगभग 3.30 बजे एक प्रौढ़ वयस्क मादा तेंदुआ मृत अवस्था मे मिला। जिसकी सूचना तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। 


Seoni News In Hindi
फाइल फोटो 


सूचना प्राप्त होने पर मुख्य वन संरक्षक एवं क्षेत्र संचालक पेंच टाइगर रिजर्व श्री अशोक कुमार मिश्रा,  उप संचालक श्री अधर गुप्ता, सहायक वन संरक्षक सिवनी श्री बी पी तिवारी,  वरिष्ठ वन्य प्राणी चिकित्सक डॉ.अखिलेश मिश्रा,  परिक्षेत्र अधिकारी श्री आशीष खोब्रागढ़े सहित स्टाफ मौके पर पहुंचा। एनटीसीए प्रतिनिधि के रूप में डब्लू.सी.टी. के सदस्य श्री राजेश भंडारकर भी मौके पर पहुंचे। 

डॉग स्क्वाड द्वारा घटना क्षेत्र के आस-पास अच्छी तरह से जांच कराई गई। कोई अप्रिय स्थिति नही पाई गई। वन्यप्राणी चिकित्सक द्वारा 13 सितम्बर 21 को प्रातः शव परीक्षण किया गया। मादा तेंदुआ के शरीर के समस्त अवयव जैसे बाल, नाखून, दांत आदि सुरक्षित अवस्था मे मिले हैं। शव परीक्षण उपरांत प्रयोग शाला परीक्षण हेतु आवश्यक नमूना एकत्रित करने के बाद एनटीसीए की समस्त सॉप का पालन करते हुए अधिकारियों की उपस्थिति में मृत मादा तेंदुआ का शव दाह किया गया। वन्यप्राणी चिकित्सक द्वारा शव परीक्षण उपरांत मादा तेंदुआ की मृत्यु प्राकृतिक बताई गई है। मादा तेंदुआ की उम्र लगभग 13 वर्ष आंकी गई है।


सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार - आवेदन 30 तक

 

सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार की तिथि 30 सितम्बर तक बढ़ी है। भारत सरकार ने आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में व्यक्तियों और संस्थानों द्वारा किए उत्कृष्ट कार्यों को मान्यता देने के लिए उक्त पुरस्कार की स्थापना की है। पुरस्कार विजेता संस्था को प्रमाण-पत्र एवं 51 लाख रुपये का नगद पुरस्कार प्राप्त होगा। 

व्यक्ति के विजेता के होने के साथ 5 लाख रुपये नगद पुरस्कार दिया जाएगा। इच्छुक भारतीय संस्थान एवं भारतीय नागरिक आवेदक   www.dmawards.ndma.gov.in ऑनलाइन आवेदन करेंगे। पुरस्कार की घोषणा 23 जनवरी 2022 नेता जी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर की जाएगी। उम्मीदवार द्वारा प्रदान की गई जानकारी गलत पाई जाती है तो तीन साल के लिए अयोग्य घोषित किया जा सकेंगा। विस्तृत जानकारी ऑनलाइन पोर्टल पर जानकारी प्राप्त हो सकेगी। 

 

गणवेश सिलाई हेतु निविदा आमंत्रित


एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय घंसौर में 422 अध्ययनरत विद्यार्थियों की गणवेश (यूनीफार्म) की सिलाई हेतु शर्ट प्रति नग 100 रूपये, टाउजर प्रति नग 150 रूपये, कुर्ती प्रति नग 100, सलवार प्रति नग 75 रूपये एवं वेस्ट कोट प्रति नग 200 रूपये की दर से 22 सितम्बर तक निविदा आमंत्रित की गई है। निविदा का विस्तृत विवरण, शर्ते एवं निविदा का शेड्यूल कार्यालय प्राचार्य एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय घंसौर के सूचना पटल पर देखा जा सकता है।  


15 सितंबर 2021 से डेंगू नियंत्रण महाभियान ‘’डेंगू पर प्रहार’’ की शुरूआत’’


मुख्‍य चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी डॉ. राजेश श्रीवास्‍तव ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में कतिपय जिलों में डेंगू के प्रकरणों में वृद्धि देखने में आई है, जिसके दृष्टिगत राज्‍य शासन द्वारा समस्‍त जिलों में दिनांक 15 सितम्‍बर 2021 से डेंगू नियंत्रण हेतु ‘’डेंगू पर प्रहार’’ जनअभियान प्रारंभ किया जाने का निर्णय लिया गया है। इस अभियान में डेंगू से बचाव एवं नियंत्रण के उपायों की जानकारी जन-जन तक पहुंचाने हेतु विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाएगा तथा समस्‍त जिलों में डेंगू निरोधक गतिविधियां संचालित की जायेगी। 

वर्तमान समय में वर्षा ऋतु प्रारंभ होने के उपरांत वेक्‍टर जनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू एवं चिकनगुनिया इत्‍यादि का संक्रमण काल प्रारंभ हो चुका है। उल्‍लेखनीय है कि वेक्‍टर जनित रोगो का बचाव एवं नियंत्रण आमजन के सहयोग से आसानी से किया जा सकता है। वर्षाकाल के प्रारंभ होते ही अनेक स्‍थानों पर जल जमाव होने के कारण घरो में छोटे कंटेनर, टंकियों इत्‍यादि में एक सप्‍ताह से अधिक जल संग्रह करने की प्रवृत्ति के कारण डेंगू एवं चिकनगुनिया जैसे रोग फैलाने वाले एडीज मच्‍छर का प्रजनन शुरू हो जाता है तथा नियमित साफ सफाई न होने के कारण इन मच्‍छरों के लार्वा उत्‍पत्ति का स्‍त्रोत बन जाते है, जिस से माह अगस्‍त से अक्‍टूबर तक इन बीमारियों का प्रकोप अत्‍याधिक रहता है।

डॉ. श्रीवास्‍तव ने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में वाहक मच्‍छरों की वृद्धि के स्‍त्रोत में कमी लाने हेतु सांवधानियां बरतना अत्‍यंत आवश्‍यक है जैसे- 7 दिनों से अधिक समय तक किसी भी स्‍थान पर जलजमाव न होने दे । (कूलर, टंकी, गमले, फूलदान, पुराने टायर, बेकार डब्‍बे, सकोरे, खाली प्‍लॉट, गड्डों इत्‍यादि की सफाई करें), टूटे बर्तन, मटके, कुल्‍हड़, गमले, बिना ढके बर्तन, बेकार जूते, नारियल खोल, डिस्‍पोजल कप नष्‍ट करे या उनमें पानी जमा न होने दे, घर की खिड़की एवं दरवाजो पर मच्‍छर रोधी जाली लगाएं, फुल बांह के कपड़े पहने तथा सोते समय मच्‍छरदानी का नियमित उपयोग करे।  

Seoni News In Hindi | आज के सिवनी समाचार | सिवनी न्यूज |  सिवनी की ताज़ा खबरे हिन्दी में 

ad

लोकप्रिय पोस्ट