Notification

×

ad

ad

Shahdol News : बिना मास्क लगाए राहगीर एवं फल विक्रेताओं को कलेक्टर ने दी मास्क लगाने की समझाइश

बुधवार, 14 अप्रैल 2021 | अप्रैल 14, 2021 WIB Last Updated 2021-04-14T12:16:35Z
    Share

कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ सत्येंद्र सिंह ने आज मेडिकल कॉलेज भ्रमण के दौरान रास्ते में फल विक्रेता एवं चलते राजगीर जो बिना मास्क लगाए फल विक्रय कर रहे थे एवं सड़कों पर राहगीर घूम रहे थे उस पर कलेक्टर ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्हें लगाने की समझाइश दी तथा अनावश्यक रूप से न घूमे और फल विक्रेता को मास्क लगाने की समझाइश देते हुए कहा कि मास्क आप का सुरक्षा कवच,एल एवं सोशल डिस्टेंसिंग संजीवनी का कार्य करेगी। कलेक्टर ने कहा कि आपकी सुरक्षा आपके साथ हैं स्वयं की  सुरक्षा करते हुए अपने परिजनों की सुरक्षा करें और अच्छे नागरिक होने का परिचय दें।

Shahdol News

कलेक्टर ने मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध संसाधनों का बेहतर इस्तेमाल करने के दिए निर्देश

मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 व्यवस्थाओं को लेकर समीक्षा बैठक संपन्न ,कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ सत्येंद्र सिंह की उपस्थिति में आज मेडिकल कॉलेज शहडोल के सभागार में मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल एवं अन्य आवश्यक संसाधनों की पूर्ति के संबंध में संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने निर्देशित किया कि मेडिकल कॉलेज में 500 बेड की सभी तैयारियां पूर्ण करें और जो आवश्यकता हो उसकी सूची भेजना सुनिश्चित करें। बैठक में कलेक्टर को अवगत कराया गया कि मेडिकल कॉलेज में डिस्पोजल बेडसीट, जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर,वाशिंग मशीन,बेड शीट एवं मानव संसाधनों में कंप्यूटर ऑपरेटर एवं नर्सिंग स्टाफ, रेडियोग्राफर एवं वार्ड ब्याय तथा सफाई कर्मचारियों की आवश्यकता है। 

इस पर कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि कंप्यूटर ऑपरेटर, आयुष चिकित्सक तथा स्टाफ नर्स रेडियोग्राफर एवं वार्ड ब्याय मेडिकल कॉलेज को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने सीएमएचओ को निर्देशित किया कि, जिन क्षेत्रो में पॉजटिव केस अधिक है वहां माइक्रो कंटेटमेंट क्षेत्र भी बनाना सुनिश्चित करें तथा प्रबंधक ई दक्ष केंद्र को भी निर्देशित किया कि कम से कम 02 कंप्यूटर ऑपरेटर मेडिकल कॉलेज में भिजवाए, जिससे पंजीयन कार्य में किसी प्रकार की समस्या ना आए। 

बैठक में कलेक्टर ने अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा को निर्देशित किया कि मेडिकल कॉलेज का समय-समय पर जिला अस्पताल के चिकित्सकों एवं अन्य अधिकारिेयो के साथ निरीक्षण कर गुणांत्मक सुधार लाना भी सुनिश्चित करें इसके लिए समय-समय पर एसडीएम सोहागपुर श्री शेर सिंह मीणा तथा एसडीएम जैतपुर श्री धर्मेंद्र मिश्रा की भी सेवाएं ले। कलेक्टर ने डीन मेडिकल कॉलेज को कहा कि अन्य आवश्यकताएं की आवश्यकता है उन्हें सूचीबद्व कर नस्ती के माध्यम से भिजवाना सुनिश्चित करे। 

कलेक्टर ने डीन मेडिकल कॉलेज को कहा कि नगरपालिका अधिकारी शहडोल से सम्पर्क कर मेडिकल कॉलेज को समय -समय पर सेनेटाइज कराएं साथ ही साफ-सफाई व्यवस्था के लिए कर्मचारी भी साफ-सफाई के  लिए भी लें। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि, व्यवस्थाओ को गुणवत्तापूर्वक एवं सुदृढ़ता से लागू करे, संसाधनो की किसी भी प्रकार की कमी नही है, समय-समय पर डीन मेडिकल कॉलेज व अन्य चिकित्सक उपलब्ध संसाधनो का बेहतर इस्तेमाल करने के लिए निरीक्षण भी करते रहें। 

   बैठक में डीन मेडिकल कॉलेज श्री मिलिंद शिलांरकर, अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एम एस सागर, मेडिकल अधीक्षक डॉ0 नागेंद्र सिंह, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ अंशुमन सुनारे मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक डॉक्टर अभिषेक गौर एवं डॉ आकाश रंजन सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओ का लिया जायजा

फीवर क्लीनिक मरीजो एवं कोविड-19 पॉजटिव मरीजो के लिए अलग-अलग प्रवेश कराने के दिए निर्देश सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद करने के दिए निर्देश

    कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ सतेन्द्र सिंह ने आज मेडिकल कॉलेज शहडोल का अवलोकन किया। कलेक्टर ने फीवर क्लीनिक मरीजो एवं कोविड-19 के पॉजटिव मरीज जो मेडिकल कालेज भर्ती होने के लिए आते हे उन्हें अलग-अलग प्रवेश कराने के निर्देश देते हुए कहा कि, इससे संभावित फीवर क्लीनिक में जांच कराने आए मरीज कोविड-19  के पॉजटिव मरीजो के सम्पर्क में आने से बच सकेगें।  कलेक्टर ने फीवर क्लीनिक के सामने अपने समक्ष मरीजो के बैठने के लिए कुर्सीयां आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की एवं डीन मेडिकल कॉलेज को कहा कि, पंजीयन के समय ही फीवर क्लीनिक में टेस्ट कराने आए मरीज को उनका पंजीयन नंम्बर दे दिया जाएं जिससे  वे बैठकर अपना नम्बर आने का इंतजार करे एवं अनाश्वयक भीड़ न लगाएं। 

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने आक्सीजन सिलेंडर, बेड्स, वेंटीलेटर सहित अन्य चिकित्सकीय सुविधाओं की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली तथा मेडिकल कॉलेज में आ रहे मरीजों से चर्चा की और उनके आने का कारण पूछा और समझाइश दी की आप लोग अनावश्यक रूप से घर से बाहर न निकले और निकलते समय मास्क व  सोशल डिस्टेंसिग का पालन करे। कलेक्टर ने मेडिकल कॉलेज में आए मरीजों को बैठने की समुचित व्यवस्था उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने डीन को निर्देशि किया कि,  पंजीयन के लिए बहुत लंबी लाइन न लगाए इसके लिए  2 कंप्यूटर आपरेटर लगाने के निर्देश दिए। 

कलेक्टर ने भ्रमण के दौरान उस वार्ड का निरीक्षण किया जहां 60 विस्तरीय, सीसीसी सेंटर बनाया जा रहा है। कलेक्टर ने निर्देशित किया कि, आईसीयू के मरीजो को जिनको आवश्यकता है उन्हें स्टेप डाउन वार्ड में रखा जाएं। आईसीयू में उन्ही मरीजो को रखा जाए जो वास्तविक में गंभीर हलात में हो।

      इस मौके पर डीन मेडिकल कॉलेज श्री मिलिंद शिरालकर, अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 एम.एस. सागर, डॉ नागेंद्र सिंह, डॉ. अभिषेक गौर, डॉ. आकाश रंजन सिंह, डॉ अंशुमन सोनारे, सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।