Notification

×

ad

ad

Lok sabha मे बोलेAnurag Thakur, 2 साल से नई छपे के 2000 नोट, दी कुछ जानकारी:-

मंगलवार, 16 मार्च 2021 | मार्च 16, 2021 WIB Last Updated 2021-04-01T09:36:13Z
    Share
अनुराग ठाकुर ने कहा कि 2019 - 20 और 2020 - 21 के दौरान 2000 रुपये के बैंक नोट के लिए छपाई से संबंधित कोई आदेश सरकार की ओर से जारी नहीं किया गया।अनुराग ठाकुर ने कहा कि 2019 - 20 और 2020 - 21 के दौरान 2000 रुपये के बैंक नोट के लिए छपाई से संबंधित कोई आदेश सरकार की ओर से जारी नहीं किया गया.

नई दिल्ली: वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को लोक सभा में चौंकाने वाला बयान दिया है. उन्होंने कहा कि पिछले दो सालों से देश में एक भी 2000 रुपये का नोट प्रिंट नहीं हुआ है.

2 साल से नहीं छपे 2000 के नोट
उन्होंने कहा, 'नोटों की प्रिंटिंग को लेकर केंद्र सरकार (Central Government) पहले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के साथ बातचीत करती है और उसके बाद ही सहमति से नोटों की प्रिंटिंग शुरू होती है. उन्होंने बताया कि 2019 - 20 और 2020 - 21 के दौरान 2000 रुपये के बैंक नोट के लिए छपाई से संबंधित कोई आदेश सरकार की ओर से जारी नहीं किया गया।

नोटों के र्कुलेशन में आई कमी

RBI के मुताबिक, मार्च 2018 में 2000 रुपये के 3 अरब 36 करोड़ 20 लाख नोट सर्कुलेशन में थे. जबकि 26 फरवरी 2021 में 2000 के सिर्फ 2 करोड़ 49 करोड़ 90 लाख 2000 रुपये के नोट सर्कुलेशन में थे. हालांकि, 2017 - 18 में केवल 11.1507 करोड़ नोटों की छपाई की गई. 2018 - 19 में 4.669 करोड़ नोट छापे गए तो अप्रैल 2019 के बाद से एक भी नोट नहीं छापा गया है।

क्यों नहीं हुई नोटों की पाई

के नोटों की छपाई बंद करने का कारण बताते हुए अनुराग ने कहा, 'जमाखोरी रोकने और ब्‍लैक मनी पर शिकंजा कसने के लिए ये फैसला किया गया. पहले भी नंवबर 2016 में सरकार ने कालेधन पर रोक लगाने और फर्जी नोटों को चलन से बाहर करने के लिए 1000 रुपये और 500 रुपये के नोटों पर प्रतिबंध लगाया था और नए नोट जारी किए थे।