Notification

×

ad

ad

तलाव में कूदकर आत्महत्या करने जा रहे पति को जानें पत्नी ने कैसे बचाया

शुक्रवार, 15 जनवरी 2021 | जनवरी 15, 2021 WIB Last Updated 2021-04-01T09:35:25Z
    Share

मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर के बहोड़ापुर का रहने वाला एक शख्स पुलिस द्वारा सुनवाई नहीं करने से इतना नाराज हो गया कि सुसाइड नोट लिखकर सागर ताल में कूदने पहुंच गया। वह तो शुक्र है भगवान का जो मेज पर रखे सुसाइड नोट पर पत्नी की नजर पड़ गई। उसने तुरंत बहोड़ापुर थाना पुलिस को सूचना दी। तत्परता दिखाते हुए पुलिस वहां पहुंच गई और युवक को आत्महत्या करने से रोक लिया गया। युवक के सामान्य होने के बाद उसके घर भेजा गया।



आखिर क्या है बहोड़ापुर का मामला?


दरअसल, शमीम खान (28) नाम का युवक बहोड़ापुर थाना का निवासी है और पेशे से मैकेनिक है। वह पत्नी के साथ शबनम के साथ पुश्तैनी घर में रहता है। शुक्रवार की सुबह शमीम ने घर पर सुसाइड नोट छोड़ा और आत्महत्या के इरादे से सागर ताल के लिए निकल गया। चंद मिनटों बाद ही पत्नी की नजर टेबल पर रखे इस सुसाइड नोट पर पड़ी। इसे पढ़कर होश उड़ गए। इसमें खुदकुशी के लिए किसी तालाब में कूदने की बात लिखी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए थाना प्रभारी पीएस यादव ने पुलिस टीम सागर ताल, जनक ताल व किले पर भेजी।


इसी समय सागर ताल पहुंची पुलिस को युवक सागर ताल के पास बैठा मिला। पुलिस को देखते ही युवक ने ताल में छलांग लगाने के लिए दौड़ लगा दी, लेकिन पहले ही पुलिस ने उसे पकड़ लिया। शमीम खान को थाने लाकर दो घंटे तक काउंसिलिंग की। थाना प्रभारी पीएस यादव का कहना है, थाने में युवक की किसने शिकायत नहीं सुनी थी, इसका पता लगाया जा रहा है।



जानिए, क्या लिखा था सुसाइड नोट में


शमीम ने सुसाइड नोट में लिखा था कि मैं मरने जा रहा हूं। मेरे घर वालों और किराएदार बबली, असरफ ने मेरी पत्नी को जान से मारने की कोशिश की। वहीं, जब मैंने इस घटना की शिकायत बहोड़ापुर पुलिस व महिला थाना पुलिस में की तो किसी ने भी मेरी बात नहीं सुनी। मेरी मौत के जिम्मेदार घरवाले, बबली, किराएदार असरफ और महिला थाना व बहोड़ापुर थाना पुलिस होगी।



यह भी देखे :-



खबर सीधे आपके Whatsapp (वाट्सऐप) में अभी ज्वाइन करे ……click here