Notification

×

ad

ad

कृषि कानूनों के फायदे, मोदी ने फिर बताएं

शनिवार, 2 जनवरी 2021 | जनवरी 02, 2021 WIB Last Updated 2021-04-01T09:35:05Z
    Share
कृषि कानूनों के फायदे मोदी ने फिर बताएं :-
कृषि कानूनों पर एक बार फिर मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को फिक्की (FICCI) की 93 वीं वार्षिक आम बैठक (AGM) का वर्चुअली उद्घाटन किया। साथ ही पीएम ने फिक्की एनुअल एक्सपो 2020 का भी उद्घाटन किया। इस एजीएम में पीएम ने 'इंस्पायर्ड इंडिया' के निर्माण में उद्योग जगत की भूमिका के लिए अपने विचार और दृष्टिकोण भी साझा किए।
फिक्की की वार्षिक आम बैठक को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कृषि कानूनों के फायदे में एक बार फिर पूरे देश के किसानों को समझाया है ।और बताया गया है। कि उद्योगपति से कृषि क्षेत्र में निवेश की भी अपील की जा रही है। नए कानून के अंतर्गत किसानों को क्या-क्या फायदा होगा।
उद्योगपतियों से कृषि क्षेत्र में निवेश की अपील की गई है। जिससे इस क्षेत्र में कई बाधाएं होती थी। अब इसे दूर किया जाएगा । नए कानूनों से टेक्नोलॉजी की दखल बढ़ाने में भी मदद मिलेगी । आधुनिक तकनीकों का सहारा मिलने से किसानों की आय दोगुनी होगी । निजी निवेश के आने से किसानों के लिए अवसरों के नए द्वार खुलेंगे । साथ ही नए कानूनों के अंतर्गत छोटे जोत वाले किसानों को भी इसमें लाभ पहुंचेगा।
पीएम ने कहा निजी क्षेत्र का कृषि क्षेत्र में जितना निवेश होना चाहिए था वह नहीं हुआ है । पर नए कानूनों के आने से इसमें किसानों को फायदा पहुंचेगा।
संबोधन के दौरान यह भी कहा कि आर्थिक संकेतक भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार के उत्साहजनक संकेत दे रहे हैं उन्होंने सरकारी हस्तक्षेप को न्यूनतम रखने तथा निजी पूंजी को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता भी जताई है। उन्होंने यह भी कहा है कि महामारी के दौर में लोगों की जान बचाना सर्वोच्च प्राथमिकता थी।
अब सरकार की आने वाली नई नीतियां ग्रामीण कृषि आधारित अर्थव्यवस्था को बढ़ाने पर ज्यादा ध्यान होगा।
अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों के बीच आने वाली दीवार को अब पुल को बनाने की जरूरत है।
अब आधुनिक तकनीक के जरिए विभिन्न फसलों और फल सब्जियों को उगाने वाले किसानों को आधुनिक तकनीक का फायदा होगा जिससे उनकी आय में बढ़ोतरी होगी।
हाल में किए गए सुधारों से किसानों को नए बाजार और नए अवसर मिलेंगे और उन्हें टेक्नोलॉजी की मदद भी मिलेगी।
निवेश के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों में आय में बढ़ोतरी होगी। जिससे 21 वी सदी में भारत की विकास यात्रा गांव से छोटे शहरों और उद्यमियों के हाथों में रहेगी । इसलिए उद्यमी यहां निवेश करेंगे और इस निवेश से ग्रामीण व कृषि क्षेत्रों से जुड़े भाइयों और बहनों के लिए संभावनाओं के लिए नए रास्ते खुलेंगे
सरकार अपनी ओर से पूरी तरह गांव के लोगों के सपनों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है ।आज गांव के लोग बाजार ,स्कूल और अस्पताल से जुड़ चुके हैं। और गांव के लोगों की महत्वकांक्षएं भी बढ़ रही है। और वे सामाजिक , आर्थिक गतिशीलता चाहते हैं।