Notification

×

ad

ad

India's 42nd Ramsar site- ladhak Tso kar lake

शुक्रवार, 25 दिसंबर 2020 | दिसंबर 25, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:34:53Z
    Share
India's 42nd Ramsar site- ladhak Tso kar lake

भारत के 2020 में कई सारे रामसर साइट जुड़े हैं 2020 जाते-जाते भारत के पर्यावरण मंत्रालय के मंत्री ने यह घोषणा की कि भारत को 42वा रामसर साइट मिल गया है |जिसका नाम हैं। Tso kar lake । Tso kar का मतलब होता है white lake ।white lake इसलिए कहा जाता है क्योंकि जब यह lake सूख जाती थी या इसका वाष्पीकरण हो जाता था तो नमक की एक परत ही रहती थी । जिसके कारण यहां के लोग इसे white lake कहने लगे। सर्दी में इसका तापमान -40 डिग्री सेल्सियस और गर्मी में 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है।


Tsokar wetland complex (complex का मतलब जिसमें दो lake है । ) जो 4200 मीटर समुद्र तल से ऊंचा है | complex स्थित दो lake की मजेदार बात यह है। कि उत्तरी क्षेत्र पर स्थित lake (Tso kar ,1800 hectare) का पानी खारा है जबकि दक्षिणी lake (startsapuk tso, 438 hectare) का पानी मीठा है। इसलिए दोनों lake की वनस्पतियां भी अलग-अलग पाई जाती है। जबकि दक्षिणी lake का पानी उतरी स्थित lake में जाता है। यह केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के changthang region मे स्थित है। यह lake दुनिया की ऊंचाई पर स्थित रामसर साइट में से एक है। यह lake 4,530 metre ऊंचाई पर स्थित है।
लद्दाख की पहली रामसर साइट सौ मोर्ररी है। जो Tso kar lake के पास ही स्थित है।
पहाड़ों पर नमक आसानी से नहीं मिल पाता है इसलिए वहां के changpa nomads इस lake से नमक निकाल कर नमक का उपयोग करते हैं। पहले यहां नमक तिब्बत भी भेजा जाता था। changpa nomads पश्मीना ऊन के लिए भी काफी प्रसिद्ध है।
Tso kar lake location -ladakh का पूर्वी क्षेत्र changthang region कहलता है। leh से 160 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है।और इस lake से लेह -मनाली रोड पश्चिम से 30 किलोमीटर की दूरी पर है
भारत में सबसे ज्यादा रामसर साइट भारत के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित है. यह lake लद्दाख के दक्षिणी क्षेत्र में स्थित है। और यह लद्दाख की दूसरी रामसर साइट है। यह लेह - मनाली हाईवे से 25 से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

Flora and fauna- Himalaya marmots, Tibetan gazelles ,Tibetan wolves & foxes, kians.


Bird life international का tso kar basin, A1 category का important bird area है। यहां की सबसे imporant bird है- black necked crane(grus nigricollis).क्योंकि इसकी गर्दन काली होती है और जब यह साइबेरिया क्षेत्र से माइग्रेट करती है तो यह लद्दाख के इस क्षेत्र में रूकती है। क्योंकि इस पक्षी के लिए या एक important breeding area है।
यहां का क्षेत्र अन्य पक्षियों के लिए भी important breeding area है जैसे- bar headed geese, great crested grebe, Rudy shelduck, lesser sand plover, brown -headed gull.

रामसर कंवेशन ( Ramsar convention) क्या है?
रामसर आर्द्रभूमि समझौता पर (Ramsar Convention on Wetlands) 2 फरवरी, 1971 इरान में स्थित शहर रामसर में हस्ताक्षर किये गये थे। . यह एक अंतर-सरकारी संधि है जो आर्द्रभूमि के संरक्षण और समुचित उपयोग के सम्बन्ध में मार्गदर्शन प्रदान करती है. भारत ने 1982 में इस संधि पर हस्ताक्षर किए थे।


भारत में रामसर के अंतर्गत कुल संरक्षित क्षेत्र 10,701 square km है। जिसमें से 22 square km Tso kar lake
का हैं।

2020 में मिलने वाले रामसर साइट -
महाराष्ट्र- lonar lake,
nandur madhameshwar
पंजाब- keshopur-miani
Beas conservation reserve
उत्तर प्रदेश-parvati agra
Saman
Samaspur
Sandi
Nangal
Sarsai narwar

रामसर साइट मिलने से क्या फायदा होता है?
Ramsar site or wetland मानव और आने वाली पीढ़ी के लिए तथा पर्यावरण के संतुलन के लिए अति आवश्यक है |
वेटलैंड ताजे पानी का सबसे बड़ा स्त्रोत है.
उसे संरक्षित क्षेत्र माना जाता है और सरकार की तरफ से कई तरह के फंड भी मिलते हैं. यहां पर ज्यादा कंस्ट्रक्शन का कार्य नहीं कर सकते और यह सरकार की नजर में रहता है और सरकार इन क्षेत्रों का ध्यान रखती है|