Notification

×

ad

ad

यहाँ लगता है,अजगरों का डेरा दूर दूर से आते हैं सैलानी । Ajgar dadar mandla

बुधवार, 23 दिसंबर 2020 | दिसंबर 23, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:34:52Z
    Share

Ajgar dadar mandla :- यंहा होता है अजगरों का डेरा, ठंड का मौसम होता है इनकी वंश वृद्धि में सहायक, इन्हें देखने दूर दूर से आते हैं सैलानी ।





अजगर दादर मंडला |Ajgar dadar mandla






मंडला - दुनिया मैं जिले का प्रसिद्द राष्ट्रीय उद्यान कान्हा अब तक जंहा वन्य प्राणी प्रेमियों व् देशी विदेशी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र था वंहिं अब कान्हा के बफर जॉन से लगे अंजनिया वन परिछेत्र के ग्राम ककैया का " अजगर दादर " (Ajgar dadar) आकर्षण का केंद्र बना हुआ है । इस ग्राम मैं दरअसल करीब 2 एकड़ के छेत्र मैं सैकड़ों अजगरों का डेरा है । छोटे - बड़े सैकड़ों की संख्या में अजगर ( रॉक पाइथन ) इस छेत्र मैं आसानी से देखे जा सकते है । जानकार जंहा इन अजगरों को वन्य प्राणियों की अनुसूची का एक अति दुर्लभ प्राणी बताते है वंहिं इसके संरक्षण की आवश्यकता पर बल दे रहे हैं । वन अधिकारी कहते है कि ajgar dadar में इनके संरक्षण, संवर्धन की योजना तैयार की जा रही है वंहिं स्थानीय निवासियों के अनुसार इस छेत्र में सैकड़ों अजगरों का वर्षों से डेरा है । इन्हें बहुतायत में ठंड के मौसम में ही देखा जाता है । जबकि जैसे जैसे ककैया छेत्र के इस अजगर दादर का पता लोगों को चलता जा रहा है वैसे वैसे लोग इन्हें देखने आने लगे है ।


https://srdnews.com/know-all-about-2021-new-year-what-will-you-do-on-new-year/





Ajgar dadar mandla मैं पाये जाने वाले अजगर अति दुर्लभ






आजगर दादर मैं पाये जाने वाले अजगर दुर्लभ प्रजाति के हैं और ये जाड़े के मौसम में न सिर्फ धुप सेकने अपने बिलों से बाहर निकलते है बल्कि यह समय इनके सहवास का होता है । स्वभावतः अकेले रहने वाला रॉक पाइथन सहवास के दौरान ही समूह मैं पाया जाता है जबकि ajgar dadar मैं इनका सैकड़ों की संख्या में मौजूद होना उक्त स्थान की भौगोलिक परिस्थित भी है जो इनके अनुकूल है ।





ग्राउंड ज़ीरो से खबर :- श्री विमलेश मिश्र - Ajgar dadar mandla ।