Notification

×

ad

ad

नए संसद भवन का निर्माण TATA करेगी ! मिला कॉन्ट्रेक्ट,21 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है

गुरुवार, 17 सितंबर 2020 | सितंबर 17, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:33:50Z
    Share


नई दिल्लीः 21 महीनों में पूरा हो सकता है नए संसद भवन (new sansad bhawan) निर्माण. टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड 861.90 करोड़ रुपये की लागत से संसद भवन की नई इमारत का निर्माण करेगी. अधिकारियों ने बताया कि टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने बोली जीती है. उन्होंने कहा कि एलएंडटी लिमिटेड ने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी.





new sansad bhawan की 21 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है.





एक अधिकारी ने कहा, “टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने संसद की नई इमारत बनाने का ठेका हासिल किया है.” सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत नई इमारत संसद की मौजूदा इमारत के नजदीक बनाई जाएगी और इसके 21 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है.





केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) के मुताबिक नई इमारत संसद भवन संपदा की प्लॉट संख्या 118 पर बनेगी. सीपीडब्ल्यूडी ने कहा कि परियोजना के अमल में आने के पूरी अवधि के दौरान मौजूदा संसद भवन में कामकाज जारी रहेगा.





यह भी देखे 37 साल बाद गिरफ्तारी, कानून के पास देर है पर अधेर नहीं ! जानिए पूरा मामला





उल्‍लेखनीय है कि नए संसद भवन के निर्माण के लिए उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लिमि‍टेड समेत सात कंपनियों ने पात्रता पूर्व बोलियां (फाइनेंशियल बीड्स) जमा की थीं। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (Central Public Works Department, CPWD) के ऑनलाइन निविदा पोर्टल के अनुसार, इन कंपनियों में… टाटा प्रोजेक्ट लि., लार्सन एंड टूब्रो लि., आईटीडी सीमेंटेशन इंडिया लि., एनसीसी लि., शपूरजी पलोनजी एंड कंपनी प्राइवेट लि., उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लि. और पीएसपी प्रोजेक्ट्स लि. शामिल थीं।





new sansad bhawan में 889 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान





बोली आमंत्रित करने वाले नोटिस में कहा गया था कि सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना (Central Vista redevelopment project) के तहत मौजूदा संसद भवन के पास नई इमारत का निर्माण किया जाएगा। इसके 21 महीने में पूरा होने का अनुमान है। यही नहीं इस पर 889 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान लगाया गया था। केंद्र सरकार की प्रमुख निर्माण एजेंसी सीपीडब्ल्यूडी ने कहा था कि नई इमारत का निर्माण 'पार्लियामेंट हाउस एस्टेट' (Parliament House Estate) की भूखंड संख्या 118 पर कराया जाएगा।





केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (Central Public Works Department, CPWD) की ओर से कहा गया है कि परियोजना के पूरा होने तक मौजूदा संसद भवन में ही कामकाज होता रहेगा। माना जा रहा है कि अब संसद के मानसून सत्र के खत्‍म होने के बाद नए भवन पर काम शुरू होगा। कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि नए भवन में सांसदों के बैठने के लिए 900 सीटें होंगी, जबकि संयुक्त सत्र में 1350 सांसदों के बैठने की व्यवस्था होगी। 2022 के जुलाई महीने में होने वाला मानसून सत्र नई संसद में आयोजित किए जाने की तैयारी है।





अधिक जानकारी के लिय आप हमारे Whatsapp (वाट्सऐप) ग्रुप ज्वाइन करे ……. हमें टेलीग्राम और ट्विटर पर भी फोलो करे





RGPV Bhopal madhya pradesh




Rgpv Bhopal इंजीनियरिंग कोर्स के बैकलॉग छात्रों की open book प्रणाली...


लोकप्रिय पोस्ट