Notification

×

ad

ad

सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है

बुधवार, 2 सितंबर 2020 | सितंबर 02, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:33:31Z
    Share


सिवनी : जिलास्तरीय कार्ययोजना को लेकर कलेक्टर द्वारा संबंधित अधिकारियों को दिए गए आवश्यक दिशा निर्देश सिवनी की ताजा खबर- पोषण अभियान के अंतर्गत महिलाओं और बच्चों के पोषण स्तर की बेहतरी के उद्देश्य से इस वर्ष भी सितंबर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य जन आंदोलन और जनभागीदारी से कुपोषण को मिटाना है।





आहार के प्रति जागरूकता तथा उपलब्धता को लेकर योजना





जिसकी जिलास्तरीय कार्ययोजना को लेकर ( seoni collector)सिवनी कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग की अध्यक्षता में महिला एवं बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ विभाग की संयुक्त बैठक मंगलवार 1 सितम्बर को कलेकट्रेट सभाकक्ष में किया गया। आज की ताजा खबर के अनुसार बैठक में अति कुपोषित बच्चों के चिन्हांकन और उनकी मॉनिटरिंग तथा माताओं, बच्चों एवं किशोरियों के लिए पोषण आहार के प्रति जागरूकता तथा उपलब्धता को लेकर तैयार किए गए जिलास्तरीय योजना की जानकारी जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती लक्ष्मी धुर्वे द्वारा दी गई। उन्होंने बताया कि पोषण अभियान अंतर्गत जन्म से 5 वर्ष तक आयु वर्ग के बच्चों में कम वजन एवं कुपोषणस्तर में कमी लाना तथा महिलाओं व बच्चों में खून की कमी को दूर करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।





खूंखार आदतन अपराधी देवकी नंदन जिला बदर





जिसके लिए जिलास्तर पर गंभीर क्षेत्रों आंगनबाड़ीवार चिन्हांकन कर स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य सहयोगी विभाग के सहयोग से स्वास्थ्य एवं पोषण शिक्षा संबंधी जागरूकता गतिविधियां सचांलित की जाएगी। साथ ही मैदानीस्तर पर नारे लेखन, पोस्टर, होर्डिंग एवं स्वास्थ्य प्रतियोगिताऐं, क्वीज प्रतियोगिता तथा पोषक भोजन थाली जैसी गतिविधियों का आयोजन कर जनमानस में पोषक आहार के प्रति जन जागरूकता फैलाई जाएगी।





seoni collector डॉ राहुल हरिदास फटिंग द्वारा उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि पोषण अभियान तहत मैदानी अमला शतप्रतिशत घरों तक पहुंचे तथा कुपोषित एवं एनीमिक बच्चों का चिन्हांकन के साथ ही धात्री महिलाओं एवं किशोरी बालिकाओं में खून की कमी को दूर करने हेतु आवश्यक कार्यवाही करें, लालिमा अभियान, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, लाडो अभियान जैसे महत्वपूर्ण अभियानों का मैदानीस्तर पर बेहतर संचालन किया जाए। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को जनमानस में बाल विवाह की रोकथाम, बालिका शिक्षा के प्रोत्साहन को लेकर स्थानीयस्तर पर विभिन्न गतिविधियों के संचालन करते हुए जनमानस में जनजागरूकता के निर्देश दिए।





अधिक जानकारी के लिए हमें टेलीग्राम और ट्विटर पर फोलो करे





Lasudia Police Station




10वीं के छात्र ने लगाई फांसी, स्कूल का आरोपों से इनकार


लोकप्रिय पोस्ट