Notification

×

ad

ad

नेंनपुर नगर पालिका बनी तानाशाह, कर्मचारियों ने नगर पालिका के खिलाफ दिया धरना

शुक्रवार, 18 सितंबर 2020 | सितंबर 18, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:33:51Z
    Share

मण्डला जिले के नैनपुर तहसील में बीजेपी की नगर पालिका परिषद (nainpur nagar palika) मोदीजी के जन्म दिन में चुंगी कर वसूल न होने पर कर्मचारी का भार नही उठा पा रही है और 20 कर्मचारी की पुंगी बजाने में लगी है कोरोना काल मे 20 कर्मचारी वो भी हरिजन समाज से आते हैं।





कर्मचारियों को निकाला





जिन को विकास की मुख्य धारा में जोड़ने बीजेपी सहित कांग्रेस के दल करते है, पर आज 20 कर्मचारी को निकाल के बीजेपी की पालिका ने जहां करनी कथनी में अंतर बता दिया।





कांग्रेस पड़ी सुस्त,nainpur nagar palika स्वच्छ्ता अवार्ड के लिए अपनी पीठ थपथपाई





वही कांग्रेस इस मामले में सुस्त पड़ी रही इन कर्मचारी को नैनपुर नागरिक मंच,बजंरग दल,राम सेना सामाजिक दल,अंतर राष्टीय बजरंग दल का साथ मिला और सभी ने इन के साथ धरना दिया,कुछ ही देर में आंदोलन को बड़ा होता देख नगर पालिका को झुकना पड़ा और सभी कर्मचारियों को यथावत करना पड़ा नगर पालिका द्वारा पहले भी सफाई कर्मचारियों का शोषण किया गया है आज दिनांक तक 3 साल से अधिक काम कर रहे कर्मचारियों को न पी एफ़ का लाभ दिया जा रहा है और आज नगर पालिका अपनी तानाशाही से इन कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही थी।।कोरोना महामारी के समय जहां सफाई कर्मियों से दिन रात काम लिया गया और जिन सफाई कर्मियों की वजह से नगर पालिका अपने आप की स्वच्छ्ता अवार्ड के लिए अपनी पीठ थपथपा रही है।





नैनपुर के सजग पत्रकार श्री दीपक शर्मा जी का कहना है कि,अब प्रश्न उठता है कि-





उनका ऐसा अपमान क्यों ???नगर पालिका जहां एक ओर करोड़ो रूपये के कार्यो का भूमिपूजन सिर्फ कमीशन के लिए कर रही है वहीं सफाई कर्मियों के साथ गलत किया जा रहा है।आंदोलन का नेतृत्व ॐ चौरसिया,सोनू हट्टेल ने किया ।





मंडला शहर की खबर सीधे आपके Whatsapp (वाट्सऐप) में ज्वाइन करे ……









रपटा घाट और संगम घाट में लगी भारी संख्या में भीड़