Notification

×

ad

ad

लैब टेक्नीशयन योग्यता से ज्यादा कैसे करें जाँच,सौंप ज्ञापन

बुधवार, 23 सितंबर 2020 | सितंबर 23, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:34:04Z
    Share

सोशल मीडिया पर चली खबर का असर हुआ जिस पर कोरोना की जांच के नाम पर नगर के लोगो की जान से खिलवाड किया जा रहा था नाक कान सवेंदन शील होते है आंतरिक अंगों से जांच को गुजरना पड़ता है जो कोर्स एनाटमी,फीजियोलाजी का लैब टेक्नीशयन ने किया ही नही जो उसके पाठयक्रम में ही नही है।उससे यह सेम्पल लेने को मज़बूर किया जा रहा है।जिस का विरोध नैनपुर होस्पिटल में पोस्टेड लैब टेक्नीशयन प्रदीप पटेल,देवानंद सिंह,धनेन्द्र सिंह,राजपाल इनवाती,ने आज एस डी एम से निजी तौर पर मिल कर अपनी व्यवहारिक समस्या बताई और ऑफिस में जा के बाबू को ज्ञापन सौप दिया एस डी एम हड़ताल पर चल रही हैं । इस लिए आफिस में ज्ञापन दिया गया।









ज्ञापन की कॉपी भोपाल पहुंची





इसकी कापी स्वस्थ आयुक्त भोपाल,सी एम एच ओ मण्डला,बी एम ओ नैनपुर को भेज दी गई है।।चारो लैब टेक्नीशयन का एक सुर में कहना है की स्वस्थ आयुक्त भोपाल के पत्र क्रमांक आई डी एस पी 2020।1571।भोपाल दिनांक 09।09।2020।।के आदेश में स्पष्ट लेख है की डॉ का दायित्व,फीवर क्लिनिक में आने वाले रोगियों की जांच उपचार व प्रबधंन करना,कोविड 19 सन्दिग्ध रोगियों की रेपिड एंटीजन किट से टेस्टिंग करना।।वही लेब में लेब टेक्नीशयन को डॉ को कोविड 19 की सन्दिग्ध रोगियों की रेपिड एंटीजन किट से टेस्टिंग में मदद करना,और निर्धारित मार्गदशिका के अनुसार सेम्पल के लेवलिंग पेकिंग और कोल्ड चेन में सधारित करते हुए निर्धारित लेब तक भेजने की व्यवस्था करना ।









दबाब बना के लिया जा रहा काम





परन्तु मण्डला जिला में ये काम दवाब बना के लेब टेक्नीशयन से लिये जा रहे है।।जो गलत है और निलंबन की धमकी दी जा रही है।।प्रयोग शाला टेक्नीशयन के पाठ्यक्रम में एनाटामी,और फीजियोलॉजी,शामिल नही है जिस के चलते लेब टेक्नीशयन को मानव शरीर के आंतरिक अंगों की जानकारी नही होती है।।जिस के चलते लेब टेक्नीशयन नेजोफेरिक्स स्वास सेम्पल लेने के योग्य नही है पर सेम्पल के लिये मजबूर किया जा रहा है कल के दिन किसी मरीज की मौत हो गई तो किसका उत्तरदायित्व होगा।





मण्डला जिले के सजग पत्रकार दीपक शर्मा का कहना कि





नैनपुर में गुणवत्तापूर्ण विहीन सेम्पल सँदेहस्पद परिणाम के साथ मरीज और लेब टेक्नीशयन की जान को भी खतरा पैदा करते है।।यदि डॉ की कमी है तो ये काम सी एच ओ को अन्य जिला की तरह सौपा जा सकता है।।उन ने एनाटामी,और फीजियोलॉजी की पढ़ाई की है।।इस विषय पर ठोस कार्य वाही की जाये।।लैब टेक्नीशयन की मांगों का जन हित मे नैनपुर नागरिक मंच ने समर्थन किया है।।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

जुड़े श्रीराम दूत नेटवर्क से

ad

लोकप्रिय पोस्ट