Notification

×

ad

ad

शादी का झांसा देकर,दुष्कर्म कर आरोपी ने नहीं की शादी,आरोपी की जमानत निरस्त

गुरुवार, 10 सितंबर 2020 | सितंबर 10, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:33:42Z
    Share

मंडला जिले में पीड़िता द्वारा 5 सितंबर को थाना महाराजपुर में लिखित आवेदन लेकर प्रथम सूचना दी गई कि आरोपित आलोक तिलगाम निवासी केहरपुर शादी का झांसा देकर उसके साथ जबरदस्ती कर एक से अधिक बार शारीरिक संबंध बनाया। जिससे वह 6 माह की गर्भवती हो गई और अब आरोपित शादी करने से इंकार कर दिया। जिससे थाना महाराजपुर में आरोपित आलोक तिलगांम के विरुद्ध दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया।





आरोपित को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। कार्रवाई के दौरान अभियुक्त द्वारा न्यायालय में जमानत पर रिहा किए जाने का आवेदन प्रस्तुत किया गया। शासन की ओर से सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी रमेश चंद्र मिश्रा द्वारा जमानत आवेदन का विरोध करने पर न्यायालय द्वारा अभियोजन पक्ष के तर्कों से सहमत होते हुए 8 सितंबर को आरोपित का जमानत आवेदन निरस्त कर भेजा जेल।





कोरोना काल में पूर्ण आवासों का डिजीटल गृह प्रवेश 12 को





जिला पंचायत सीईओ तन्वी हुड्डा से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत कोविड-19 की अवधि में 1.56 लाख से अधिक हितग्राहियों के पूर्ण हुये आवासों का डिजीटल गृह प्रवेश कार्यक्रम 12 सितम्बर को सुबह 10:30 बजे आयोजित किया गया है। इस कार्यक्रम के लिए उक्त तिथि को जिले से कोविड-19 की अवधि में पूर्ण हुए आवास के 5 हितग्राहियों को जिला सूचना केन्द्र (एनआईसी) में बुलाया जाये, जिनमें दो महिलायें कम से कम एक हितग्राही अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग का हो। इनमें यथा संभव 05 हितग्राहितयों में कम से कम एक प्रवासी श्रमिक हो। उन्होंने कहा है कि समस्त 1.56 लाख हितग्राहियों को उक्त कार्यक्रम में भागीदारी की सूचना एस.एस.एस. व अन्य माध्यम से देना सुनिश्चित किया जाये। जिले की समस्त पंचायतों को लाईव कनेक्ट किया जाये तथा प्रत्येक पंचायत से 100 हितग्राहियों का प्री-रजिस्ट्रेशन कराया जाये।





    जिला पंचायत सीईओ ने सभी जिला पंचायत, जनपद पंचायत कार्यालय तथा समृद्ध पर्यावास से जुड़े विभागों को इस कार्यक्रम से कनेक्ट करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी इस कार्यक्रम में शामिल होने की सूचना देते हुये उन्हें कार्यक्रम में सम्मिलित कराने के निर्देश दिए हैं। जिला पंचायत सीईओ ने कहा है कि इस कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु मीडिया कैम्पेन चलाया जाये। ट्वीटर हेन्डल, फेसबुक पेज पर भी इसका प्रचार-प्रसार किया जायें।





जिला कलेक्टर एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत के ट्वीटर हेन्डल, फेसबुक पेज पर भी कार्यक्रम का कैम्पेन चलाया जाये। सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफॉर्मस में व्यापक प्रचार-प्रसार भी कार्यक्रम का किया जायें। जिले के त्रि-स्तरीय पंचायतों के सभी अधिकारी, कर्मचारियों, ऑगनबाडी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता एवं पटवारी आदि को इस कार्यक्रम से जोड़ा जायें। उन्होंने डिजिटल गृह प्रवेश कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुये मॉस्क लगाने, आवश्यकतानुसार सेनेटाइजर का उपयोग व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।