Notification

×

ad

ad

37 साल बाद गिरफ्तारी, कानून के पास देर है पर अधेर नहीं ! जानिए पूरा मामला

रविवार, 13 सितंबर 2020 | सितंबर 13, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:33:46Z
    Share


एक बड़ा ही अनोखा मामला सामने आया है (bike chor) वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर ने कहा कि साल 1983 में मानागाढ़ी (Managarhi bike) में एक बैंक मैनेजर से मोटरसाइकिल की लूट के मामले तीन लोगों पर मामला दर्ज किया गया था.
मथुरा : साल 1983 में मोटरसाइकिल लूट (bike chor news) के एक मामले में वांछित उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के निवासी रघुनाथ सिंह को अपराध करने के 37 साल बाद आखिरकार गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया. उसके सिर पर 20 हजार का इनाम रखा गया था.





मानागढ़ी में बैंक के मैनेजर के साथ हुई थी वारदात|bike chor news





वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर ने कहा कि साल 1983 में मानागाढ़ी में एक बैंक मैनेजर से ( bike chor news) मोटरसाइकिल की लूट के मामले तीन लोगों पर मामला दर्ज किया गया था.





अवैध शराब निर्माण एवं विक्रय करने वालों पर सतत कार्यवाही





जवानी में किया था (chori)अपराध अब हुई गिरफ्तारी





वारदात में शामिल रहे दो आरोपियों को तो पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था. वहीं अदालत ने इस मामले की सुनवाई के दौरान आरोपियों को न्यायिक हिरासत (Judicial Custody) में भेज दिया गया था. उनके कब्जे से मोटरसाइकिल (Motorcycle) बरामद कर ली गई थी. हालांकि बाइक लूट का ये तीसरा आरोपी रघुनाथ सिंह लंबे समय तक फरार था.





इस तरह हुई मुखबिरी तब पकड़ा गया रघुनाथ





कथित तौर पर अन्य दो आरोपियों के करीबी एक सूत्र ने गुरुवार को मथुरा में सिंह की उपस्थिति के बारे में पुलिस को सूचित किया, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया.





अधिक जानकारी के लिए हमें टेलीग्राम और ट्विटर पर फोलो करे





BSF ने जब्‍त किया हथियारों का जखीरा भारत को दहलाने की पाकिस्तानी साजिश नाकाम,