Notification

×

ad

ad

रिलायंस खरीद सकता है TikTok का कारोबार भारत में पुनःTikTok की एंट्री!

शुक्रवार, 14 अगस्त 2020 | अगस्त 14, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:32:58Z
    Share

Tik Tok को भारतीय कारोबार को बेचने की योजना बना रही है.टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बाइटडांस





1)- दोनों कंपनियां अभी किसी भी सौदे पर नहीं पहुंची हैं.
2)- कंपनियों ने अब तक मामले पर प्रतिक्रिया नहीं दी है.





देश में युवाओं के पसंदीदा चाइनीज ऐप टिकटॉक की एक बार फिर एंट्री हो सकती है. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज टिकटॉक के भारतीय कारोबार को खरीद सकती है.





रिपोर्ट में कहा गया है कि टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बाइटडांस और मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के बीच बातचीत चल रही है. हालांकि, दोनों कंपनियां अभी किसी भी सौदे पर नहीं पहुंची हैं. रिलायंस और टिकटॉक की ओर से अब तक मामले पर प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.





खास बात यह है कि बीते जुलाई महीने में भारत सरकार ने टिकटॉक समेत 59 चाइनीज ऐप को बैन कर दिया था. सरकार ने प्राइवेसी का हवाला देते हुए टिकटॉक समेत अन्य चाइनीज ऐप पर बैन लगाया है.





बैन होने वाले ऐप में भारत में सबसे लोकप्रिय





बैन के वक्त टिकटॉक के 30 फीसदी यूजर भारतीय थे और इसकी करीब 10 फीसदी कमाई भारत से होती थी. अप्रैल 2020 तक गूगल प्ले स्टोर और ऐपल ऐप स्टोर से टिकटॉक के 2 अरब डाउनलोड किए गए थे. इनमें से करीब 30.3 फीसदी या 61.1 करोड़ डाउनलोड भारत से थे.





मोबाइल इंटेलीजेंस फर्म सेंसर टावर के अनुसार टिकटॉक का डाउनलोड भारत में चीन से भी ज्यादा हो गया है. चीन में टिकटॉक का डाउनलोड सिर्फ 19.66 करोड़ है जो कि उसके कुल डाउनलोड का महज 9.7 फीसदी हिस्सा है.





अमेरिका में भी ( TikTok) टिकटॉक बैन





पिछले सप्ताह अमेरिका ने भी चीनी ऐप टिकटॉक पर बैन को मंजूरी दी थी. हालांकि, अमेरिका ने बाइटडांस को टिकटॉक का अमेरिकी कारोबार किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने के लिए 15 सितंबर तक का समय दिया है. टिकटॉक का अमेरिकी कारोबार खरीदने के लिए माइक्रोसॉफ्ट और ट्वीटर रेस में है.


ad

लोकप्रिय पोस्ट