Notification

×

ad

ad

माँ नर्मदा नदी का जलस्तर हुआ कम फिर भी सावधानी बरतें - कलेक्टर

गुरुवार, 20 अगस्त 2020 | अगस्त 20, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:33:12Z
    Share

Narmada river mandla:- मण्डला जिले में नर्मदा व उसकी सहायक नदियों में मंगलवार को जलस्तर बढ़ा हुआ था। वहीं नर्मदा खतरे के निशान के उपर रात के वक्त पहुंच गई थी। जिससे शहर में भी खतरे की संभावना बन गई थी। निचले इलाकों में पानी भरने लगा था। देर रात तक पुलिस व प्रशासन के अधिकारी (Narmada river) नर्मदा तटों में निगरानी बनाए रखे और लोगों को सुरक्षति स्थानों में रहने के निर्देश देते रहे। रात में रपटापुल की ओर बड़ी संख्या में लोगों के पहुंचने पर सावधानी बरतते हुए पुल में आने जाने वाले लोगों पर रोक लगाई गई। बेवजह पुल पर जाने वालों को रोका गया।





घट गया बाढ़ का पानी |Narmada river mandla





देर रात के वक्त मंडला शहर में रंगरेज घाट, अयोध्या बस्ती व अंदर तक सड़कों में पानी पहुंच गया था। इसी तरह संगमघाट महाराजपुर में भी बूढ़ी माई मंदिर व उसके आसपास पानी भर गया था। रात में 3 बजे तक नर्मदा का पानी बढ़ रहा था। उसके बाद से जलस्तर धीरे धीरे घटना प्रारंभ हुआ।





सुबह होते होते काफी पानी उतर गया। दोपहर तक और तेजी से पानी कम हुआ। नर्मदा के छोटे पुल में भी पानी कम हो गया।





बरगी बांध के गेट खुल जाने से मंडला में प्रभाव कम हो गया वरना बड़े पुल को भी खतरा बन सकता था।





नर्मदा में अभी भी विशाल जलराशि आ रही है। बताया गया है कि बरगी बांध के गेट खुल जाने से मंडला में प्रभाव कम हो गया वरना बड़े पुल को भी खतरा बन सकता था। पुलिस अधीक्षक दीपक शुक्ला रात में नर्मदा तटों का भ्रमण कर दिशा निर्देश देते रहे। वहीं कलेक्टर हर्षिका सिंह ने भी लोगों से अपील जारी कर सावधानी बरतने की अपील की।





आमजन बाढ़ एवं खतरनाक स्थानों पर न जाएं, भीड़ से बचें :





कलेक्टर हर्षिका सिंह ने जिले के विभिन्न स्थानों में हो रही लगातार बारिश एवं बाढ़ की संभावना को देखते हुए जिले की जनता से अपील की है कि आमजन बाढ़ को देखने और मनोरंजन के लिए खतरनाक स्थानों पर न जाएं। सभी अपने घरों में सुरक्षति रहें। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए हम सभी को लगातार मॉस्क का उपयोग एवं सोशल डिस्टेसिंग का पालन करना है। उन्होंने मुख्यालय के रपटा सहित अन्य घाटों पर अनावश्यक नहीं जाने के निर्देश दिए हैं।





मण्डला कलेक्टर ने कहा





कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा है कि आमजन ऐसे खतरनाक स्थानों पर जाकर फोटोग्राफी एवं सेल्फी न लें। प्रशासन द्वारा बाढ़ के जलस्तर पर निगरानी रखने एवं प्रभावित क्षेत्रों की व्यवस्थाओं के लिए जरूरी इंतजाम किए जा रहे हैं। जिले की जनता प्रशासन एवं पुलिस द्वारा तैनात अमले को पर्याप्त सहयोग दें।


ad

लोकप्रिय पोस्ट