Notification

×

ad

ad

विश्व हीमोफीलिया दिवस (17 अप्रैल) | Current affairs to day #1

शनिवार, 18 अप्रैल 2020 | अप्रैल 18, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:32:09Z
    Share

Current affairs 2020





Current affairs :- वित्त वर्ष 2020-21 के मध्य तक मुद्रास्फीति के 4 प्रतिशत से नीचे आने का अनुमान: RBI भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने 17 अप्रैल 2020 को कहा कि मुद्रास्फीति में गिरावट का रुख है और केंद्रीय बैंक का अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में मुद्रास्फीति दर घटकर उसके चार प्रतिशत के लक्ष्य से नीचे आ जायेगी.





उन्होंने कहा कि उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति अपने जनवरी 2020 के शीर्ष स्तर से 1.70 प्रतिशत तक नीचे आ गई है. आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने 17 अप्रैल 2020 को सुबह एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में कहा कि आने वाले समय में आपूर्ति पक्ष के अवरोधों के बावजूद मुद्रास्फीति और भी घट सकती है और वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी छमाही तक यह चार प्रतिशत के उसके लक्ष्य से भी नीचे जा सकती है. खाद्य पदार्थों के दाम में गिरावट के चलते खुदरा महंगाई दर मार्च में घटकर चार महीने के निचले स्तर 5.91 प्रतिशत पर आ गई.





विश्व हीमोफीलिया दिवस (17 अप्रैल) Current affairs 2020





Current affairs 2020 :- विश्व हीमोफीलिया दिवस विश्व फेडरेशन ऑफ हीमोफीलिया (WHF) द्वारा शुरू किया गया था यह दिन उन लोगों की देखभाल, बेहतर निदान और उन प्रयासों के लिए है जो बिना इलाज के रहते हैं 30वें विश्व हीमोफीलिया दिवस 2020 का थीम है "Get + Involved" विश्व हीमोफीलिया दिवस रक्तस्रावी विकारों के बारे में हीमोफीलिक रोगियों और आम जनता को शिक्षित करने पर केंद्रित है .





2020 का थीम रोगी, परिवार के सदस्य या देखभाल करने वाले, एक कॉर्पोरेट साथी, एक स्वयंसेवक, या एक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता, इत्यादि को प्रोत्साहित करता है ताकि हीमोफीलिया बीमारी के बारे में जागरूकता बढ़ाने में मदद मिल सके





इसे वर्ल्ड फेडरेशन हीमोफीलिया (WFH) के संस्थापक फ्रैंक श्नाबेल (Frank Schnabel's) के जन्मदिन के सम्मान में मनाने के लिए चुना गया था





यह दोस्तों, परिवार, सहकर्मियों इत्यादि के साथ रोग पर चर्चा करने और हीमोफीलिया रोग से पीड़ित रोगियों का समर्थन करने का अवसर भी प्रदान करता है





साथ ही यह दिन उन लोगों के लिए धन जुटाने के लिए भी प्रेरित करता है जो इस बीमारी से पीड़ित हैं और इलाज का खर्च उठाने में सक्षम नहीं हैं





World Hemophilia Day imp gk questions





  • 29वें विश्व हीमोफीलिया दिवस 2019 का थीम था “Outreach and Identification”.
  • रक्तस्राव विकारों के समुदाय के नए सदस्यों तक पहुंचने और उनकी पहचान करने पर ध्यान केंद्रित करना
  • विश्व हीमोफीलिया दिवस की शुरुआत वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ हीमोफीलिया द्वारा 1989 और 17 अप्रैल को की गई थी
  • दरअसल, हीमोफीलिया की खोज 10वीं शताब्दी में हुई थी, जब लोगों ने गंभीर रूप से दिलचस्पी लेना शुरू किया, खासकर पुरुषों में, जो रक्तस्राव के कारण मामूली चोटों के बाद मौत का कारण बनी
  • उस समय इस बीमारी को Abulcasis के नाम से जाना जाता था लेकिन, सीमित तकनीक के कारण इसे ठीक नहीं किया गया
  • विशेष रूप से, उस समय यह रोग यूरोपीय शाही परिवारों में आम था और एस्पिरिन के साथ इलाज किया जाता था जिससे खून पतला हो गया और स्थिति बदतर हो जाती थी
  • फिर, 1803 में फिलाडेल्फिया के डॉ० जॉन कॉनराड ओटो (John Conrad Otto) ने "ब्लीडर्स" ("bleeders") नाम के लोगों का अध्ययन करना शुरू किया और कहा कि यह एक वंशानुगत बीमारी है जो उनकी माताओं द्वारा पुरुषों में हो जाती है




विश्व हीमोफीलिया दिवस (one liner gk questions )





1937 में, हीमोफीलिया आनुवंशिक विकार को दो प्रकारों में विभाजित किया गया था: A और B लेकिन उस समय तक कोई उचित उपचार का आविष्कार नहीं किया गया था





फिर, 17 अप्रैल को WFH के संस्थापक के जन्मदिन के अवसर पर हीमोफीलिया बीमारी के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए चुना गया





यह दिन लोगों को प्रोत्साहित करता है, इस बीमारी के इलाज के लिए, धन इकट्ठा करने के लिए जागरूकता बढ़ाता है जो इसके इलाज के लिए पैसा देने में समर्थ नहीं होते हैं जिस कारण उन लोगों का इलाज नहीं हो पाता है





यह उचित उपचार के लिए भी जोर देता है और हीमोफीलिक रोगियों की देखभाल करता है





क्या आप जानते हैं कि 10,000 में से लगभग 1 में रक्तस्राव विकार होता है और उचित उपचार की आवश्यकता होती है





इस आनुवंशिक विकार और अन्य जुड़े रक्तस्राव विकारों की समझ और जागरूकता बढ़ाने के लिए विश्व भर में हर साल 17 अप्रैल को विश्व हीमोफीलिया दिवस मनाया जाता है





बहुत से लोग जागरूकता फैलाने वाले अभियानों का आयोजन करते हैं और हीमोफीलिया बीमारी के बारे में आम जनता को सूचित करने के लिए कई काम्पैग्न्स करते हैं





यहां तक कि विभिन्न स्वास्थ्य संगठनों के कर्मचारी इवेंट्स या काम्पैग्न्स में भाग लेते हैं





इस बीमारी के साथ मुख्य मुद्दा यह है कि हीमोफीलिया से पीड़ित लोगों को उचित उपचार नहीं मिल पाता है या कभी-कभी सही से इलाज नहीं हो पाता है






CURRENT AFFAIRS TO DAY | one liner gk question | imp gk


ad

लोकप्रिय पोस्ट