Notification

×

ad

ad

बम के प्रकार तथा बम से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी |bom full form

बुधवार, 26 फ़रवरी 2020 | फ़रवरी 26, 2020 WIB Last Updated 2021-04-01T09:32:03Z
    Share

SRD news लेके आया है बम से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी जो आपके लिए उपयोगी हो सकती है . क्या आपको पता है बम का फुल फॉर्म ( bom full form ) क्या है ? आइये जानते है





बम | Bom





बम ( bom full form ) bill of material होता है




bom का full form bil of material होता है अब हम बम के कुछ प्रकारों के बारे में जानेंगे जैसे





  • न्यूट्रान बम क्या है ?
  • माइक्रोवेव बम क्या है ?
  • साल्टेड बम क्या है ?
  • वैक्यूम बम क्या है ? और भी बहुत कुछ . आइये जानते है




न्यूट्रान बम | Neutron bomb





न्यूट्रान बम : इस बम की विस्फोटक क्षमता तुलनात्मक रूप से कम होती है लेकिन विकिरण क्षमता अधिक होती है।





यह पृथ्वी एवं जल में रेडियोधर्मिता फैला सकता है। टैंको एवं बुलेट प्रूफ वाहनों को तहस-नहस कर सकता है।





साल्टेड बम |Salted bomb 





साल्टेड बम : नाभिकीय हथियारों के अनुकूल पदार्थ को बाल्ट एवं सोने के द्वारा साल्टेड बम तैयार किया जाता है।





इसकी विशेषता है कि इसके द्वारा अधिक मात्रा में रेडियोधर्मी विकिरण फैलाया जा सकता है।





CURRENT AFFAIRS DAILY UPDATE





माइक्रोवेव बम | Microwave bom





माइक्रोवेव बम : माइक्रोवेब बम का आविष्कार अमेरिका द्वारा किया गया। इसके द्वारा इतनी तीव्र शक्ति की ऊर्जा का उत्सर्जन होता है कि शत्रु के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण व संचार प्रणाली ध्वस्त हो जाती है, यहाँ तक कि वाहनों की इग्नीशन प्रणालियाँ भी इसके द्वारा नष्ट हो सकती है।





उल्लेखनीय है कि, शत्रु की संचार प्रणाली को ध्वस्त करने वाले इन बमों से कोई जनहानि नहीं होगी।





वैक्यूम बम | vacume bomb





वैक्यूम बम : अमेरिका के रक्षा अनुसंधान वैज्ञानिकों ने ऐसी थर्मोबेरिक प्रणाली का सफल परीक्षण भी किया है





जिसके द्वारा रासायनिक एवं जैवकीय शस्त्रों के भंडारों पर अति उच्च तापमान सृजित करके उन्हें बेकार किया जा सकेगा।





इस प्रकार की शस्त्र प्रणाली को पहले वैक्यूम बम के नाम से जाना जाता था।





एडमिरल गोरशोकोव एक विमान वाहक पोत है, जिसे भारत ने रूस से खरीदा है। यह विमानवाहक पोत विराट का स्थान ग्रहण करेगा। यह हिन्द महासागर में भारत की उपस्थिति को मजबूती प्रदान करेगा।





आई. सी. चिप्स सिलिकॉन की बनी होती है। इसका निर्माण 1958 ई. में जे. एस. किल्वी. ने किया था।





यह भी देखे :-


लोकप्रिय पोस्ट